हरिद्वार

1 min read

हरिद्वार नगर शिवालिक श्रेणी के बिल्व व नील पर्वतों के मध्य गंगा के दाहिने तट पर स्थित है। इसका गठन 28 दिसम्बर 1988 को किया गया था। हरिद्वार को-गंगाद्वार, देवताओं का द्वार, तीर्थ स्थलों का प्रवेश द्वार, चार धामों का द्वार, स्वर्ग द्वार, मायापुरी या माया क्षेत्र से जाना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest from Blog