पारिस्थितिकी तंत्र के प्रकार

5 mins read

इस शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग A.G Tansle द्वारा 1935 में किया गया | पारिस्थितिकी तंत्र के अंतर्गत जैविक एवं अजैविक संघटकों के समूह को सम्मिलित किया जाता है, जो पारस्परिक क्रिया में सम्मिलित होकर पारिस्थितिकी तंत्र (Ecosystem) का निर्माण करते है| इसे  मुखयत: दो भागों में विभाजित किया जा सकता है —

  1. प्राकृतिक पारितंत्र (Natural ecosystem)
  2. मानव निर्मित पारितंत्र (Manmade ecosystem)

प्राकृतिक पारितंत्र (Natural ecosystem)

मानव निर्मित पारितंत्र (Manmade ecosystem)

  • सौर ऊर्जा पर निर्भर वह पारितंत्र जो मनुष्य द्वारा निर्मित किए गए है, जैसे – खेत, एक्वाकल्चर और कृत्रिम तालाब|
  • जीवाश्म ईधन पर निर्भर पारितंत्र, जैसे – नगरीय पारितंत्र , औद्योगिक पारितंत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Latest from Blog

आर्य समाज (Arya Samaj)

आर्य समाज एक हिन्दू सुधारवादी था आन्दोलन है जिसकी स्थापना वर्ष 1875 में स्वामी दयानन्द सरस्वती ने की थी। स्वामी दयानन्द सरस्वती ने

error: Content is protected !!